आज का पंचांग, आरती, चालीसा, व्रत कथा, स्तोत्र, भजन, मंत्र और हिन्दू धर्म से जुड़े धार्मिक लेखों को सीधा अपने फ़ोन में प्राप्त करें।
इस 👉 टेलीग्राम ग्रुप 👈 से जुड़ें!

Skip to content

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) इस वर्ष कब है?: तिथि और समय

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023)

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें।
👉 पंचांग

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) इस वर्ष एक ऐसी खगोलीय घटना है जो हमारे आकाश में अद्वितीय और चमत्कारी रूप से घटित होगी।

यह घटना सौरमंडल के दूसरे ग्रह चंद्रमा के साथ होती है, जिसमें चंद्रमा सूर्य की किरणों को पूरी तरह से ढक लेता है, और इससे हमारे आकाश में बेहद ही खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलता है।

इस लेख में, हम आपको 2023 के अक्टूबर महीने में होने वाले सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2023) के बारे में जानकारी देंगे, इसके वैज्ञानिक और धार्मिक महत्व को समझाएंगे, और बताएंगे कि हम इसे सुरक्षित तरीके से कैसे देख सकते हैं।

सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2023) का वैज्ञानिक विवरण

सूर्य ग्रहण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें सूर्य, चंद्रमा, और पृथ्वी के बीच महत्वपूर्ण प्राकृतिक प्रक्रिया होती है, जिसमें सूर्य और पृथ्वी के बिच चन्द्रमा के आने से सूर्य की किरणें पूरी तरह से पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाती।

यह घटना वैज्ञानिक दृष्टिकोण से एक बहुत ही रोचक प्रक्रिया है और इस ग्रहण को वैज्ञानिक शब्दों में “Occultation” कहा जाता है।

सूर्य ग्रहण जब होता है, तो सूर्य की प्राकृतिक रोशनी को देखना असंभव हो जाता है।

चंद्रमा के बीच में आने से सूर्य की किरणों को धीरे-धीरे ढकने लगता है, जिससे हम एक सुन्दर गहरे सुनहरे और काले ग्रेडिएंट का दृश्य देखते हैं, जिसे हम “डायमंड रिंग एफेक्ट” के रूप में जानते हैं।

यह दृश्य वाकई बहुत ही मोहक और अद्वितीय होता है।

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें – हरे रामा हरे कृष्णा: आध्यात्मिकता की अनमोल धारा

सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2023) का धार्मिक महत्व

सूर्य ग्रहण हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। यह प्रक्रिया हिंदू पंचांग के अनुसार एक विशेष तारीख और समय पर निर्धारित होती है।

विज्ञान के दृष्टिकोण से, सूर्य और चंद्र ग्रहण को एक खगोलीय घटना माना जाता है, हालांकि ज्योतिष शास्त्र और धर्म के क्षेत्र में इसे अशुभ घटना के रूप में देखा जाता है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण के समय नकारात्मक ऊर्जा बढ़ने लगती है।

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023)

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023): तिथि और समय

2023 का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2023) 20 अप्रैल 2023 को दिखाई दिया था। अब, वर्ष के आखिरी सूर्य ग्रहण का समय आ रहा है, जो 14 अक्टूबर 2023 को अश्विन अमावस्या के दिन होगा।

इस 14 अक्टूबर को होने वाले सूर्य ग्रहण का केंद्र कन्या राशि और चित्रा नक्षत्र में होगा। यह ग्रहण एक वलयाकार ग्रहण होगा और इसे भारत में देखा नहीं जा सकेगा।

14 अक्टूबर 2023 को, इस सूर्य ग्रहण का प्रारंभ भारतीय समयनुसार शनिवार रात्रि 8:34 बजे होगा और इसका समापन मध्य रात्रि 2:25 बजे पर होगा।

यह सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) केवल दक्षिण अमेरिका, पश्चिमी अफ्रीका, अटलांटिक, उत्तरी अमेरिका, और आर्कटिक जैसी कुछ जगहों में ही देखा जा सकेगा।

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण को शुभ नहीं माना जाता। इसके दौरान हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रसित हो जाता है, और इसका प्रभाव हर जीव-जंतुओं और मनुष्य पर पड़ता है।

इस समय, लोगों को कोई भी शुभ कार्य करने से बचना चाहिए और इसका सावधानी से पालन करना चाहिए।

ग्रहण के दौरान कई काम वर्जित हो जाते हैं, और इन्हें भूलकर भी नहीं किया जाना चाहिए।

ग्रहण शुरू होने से कई घंटे पहले सूतक लग जाता है, इसलिए लोगों को सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) के समय विशेषत: ध्यान में रखना चाहिए कि वे किसी भी शुभ कार्य को प्रारंभ नहीं करें।

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें – रक्षा बंधन 2023 और राखी बाँधने का मुहूर्त

सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) कैसे देखें?

सूर्य ग्रहण को देखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुरक्षा सावधानियों का पालन करना बेहद आवश्यक है। सूर्य की किरणों को नग्न आँखों से नहीं देखना चाहिए क्यूंकि यह हानिकारक हो सकता है।

इसलिए आपको सूर्य ग्रहण 2023 (Surya Grahan 2023) को देखने के लिए इस ग्रहण को देखने के लिए विशेष रूप से बनाये गए चश्मों का प्रयोग करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page