Shree Satyanarayan Aarti Lyrics (श्री सत्यनारायण आरती)


Shree Satyanarayan Aarti Lyrics (श्री सत्यनारायण आरती)

श्री सत्यनारायण भगवान विष्णु के सबसे व्यापक रूप से सुशोभित रूपों में से एक है, जिसे हिंदू धर्म में हर जगह व्यापक रूप से सम्मानित किया जाता है। हर महीने लाखों से अधिक भक्त इस विशेष व्रत का पालन करते हैं और प्रसिद्ध सत्यनारायण कथा और अनुष्ठानों में भी भाग लेते हैं।

यह भगवान विष्णु का एक रूप है जिसे विश्वास और वास्तविकता के अवतार के रूप में पूजा जाता है, जो विष्णु के सभी विश्वासियों और भक्तों के बीच आम है। इसके कई लाभ हैं जिन्होंने कई तरह से उपासकों के जीवन को प्रभावित किया है। भगवान सत्यनारायण में गहरी आस्था रखने वाले व्यक्ति भी साल में कई बार इस संस्कार को करते हैं।

Satyanarayan Vrat Katha (सत्यनारायण व्रत कथा) के बाद Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) करनी चाइये।

Benefits of Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती के लाभ)

श्री सत्यनारायण व्रत, श्री सत्यनारायण व्रत कथा और Satyanarayan Aarti (सत्यनारायण आरती) को करने से हमें कुछ समग्र लाभ और कुछ आध्यात्मिक लाभ मिल सकते हैं।

श्री सत्यनारायण व्रत, श्री सत्यनारायण व्रत कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) के समग्र लाभ निम्नलिखित हैं:

  • एक बार जब कोई व्यक्ति सत्यनारायण व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) करना शुरू कर देता है, तो उसकी आत्मा शुद्ध हो जाती है जो पिछले और वर्तमान जीवन के पापों को मिटा देती है।
  • व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) आपके मानसिक स्वास्थ्य को मजबूत करते हैं क्योंकि आप अपने पथ से अधिक जुड़े और केंद्रित होते हैं। यह समग्र स्वास्थ्य में भी सुधार करता है क्योंकि आपको नियमित रूप से संतुलित आहार खाने को मिलता है, आपका ध्यान, आपकी ध्यान केंद्रित करने की शक्ति आपके जीवन में बहुत बड़ा बदलाव लाती है।
  • ऐसा माना जाता है कि यह व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) आपके जीवन के सभी संकटों को दूर कर सकती है।
  • व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) के पालन से आपकी इच्छाएं और जरूरतें पूरी होती हैं।
  • सत्यनारायण व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) को करने से यह सुनिश्चित होता है कि आपके पास एक आरामदायक और एक सिद्ध जीवन होगा जो अधिक महत्वपूर्ण है।

सत्यनारायण व्रत, कथा और Shree Satyanarayan Aarti (श्री सत्यनारायण आरती) के समग्र लाभ निम्नलिखित हैं:

  • जीवन में सच्चाई से जीने की इच्छा।
  • एक बुद्धि जो अच्छे और बुरे के बीच का अंतर समझती है।
  • एक आध्यात्मिकता जो आपको सुरक्षित मार्ग पर ले जाती है।
  • एक निर्णय जो आपको अच्छी, सही और गलत चीजों के बीच अंतर जानने में मदद करता है।
  • एक शपथ जो आप अपने लिए लेते हैं कि आप यथासंभव सच्चाई से जीने की कोशिश करेंगे। आप अपने जीवन और रहन-सहन के तरीकों में सच्चे और संयमी होंगे।
इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Shri Satyanarayan Vrat Katha In Hindi (श्री सत्यनारायण व्रत कथा)
Shri Satyanarayan Vrat Katha In Hindi (श्री सत्यनारायण व्रत कथा) Shree Satyanarayan Aarti Lyrics (श्री सत्यनारायण आरती)

Shree Satyanarayan Aarti Lyrics (श्री सत्यनारायण आरती)

|| श्री सत्यनारायण जी की आरती ||

जय लक्ष्मी रमणा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।
सत्यनारायण स्वामी, जन-पातक-हरणा ॥ जय लक्ष्मी… ॥

रत्न जड़ित सिंहासन, अद्भुत छवि राजे ।
नारद करत नीराजन, घंटा वन बाजे ॥ जय लक्ष्मी… ॥

प्रकट भए कलिकारन, द्विज को दरस दियो ।
बूढ़ो ब्राह्मण बनकर, कंचन महल कियो ॥ जय लक्ष्मी… ॥

दुर्बल भील कठारो, जिन पर कृपा करी ।
चंद्रचूड़ इक राजा, तिनकी विपति हरी ॥ जय लक्ष्मी… ॥

वैश्य मनोरथ पायो, श्रद्धा तज दीन्ही ।
सो फल भोग्यो प्रभुजी, फिर स्तुति किन्हीं ॥ जय लक्ष्मी… ॥

भाव-भक्ति के कारण, छिन-छिन रूप धर्‌यो ।
श्रद्धा धारण किन्ही, तिनको काज सरो ॥ जय लक्ष्मी… ॥

ग्वाल-बाल संग राजा, बन में भक्ति करी ।
मनवांछित फल दीन्हो, दीन दयालु हरि ॥ जय लक्ष्मी… ॥

चढ़त प्रसाद सवायो, कदली फल मेवा ।
धूप-दीप-तुलसी से, राजी सत्यदेवा ॥ जय लक्ष्मी… ॥

सत्यनारायणजी की आरती जो कोई नर गावे ।
ऋषि-सिद्ध सुख-संपत्ति सहज रूप पावे ॥

जय लक्ष्मी रमणा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।
सत्यनारायण स्वामी, जन-पातक-हरणा ॥ जय लक्ष्मी… ॥

Shree Satyanarayan Aarti Lyrics PDF Download (श्री सत्यनारायण आरती)


onehindudharma.org

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Jitiya Vrat Aarti Lyrics (जितिया व्रत आरती)

Leave a Comment

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 👉

X
You cannot copy content of this page