Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स) | Sai Ka Kehna Hai (साई का कहना है)


Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स) | Sai Ka Kehna Hai (साई का कहना है)

शिरडी के साईं बाबा (निधन 15 अक्टूबर 1918), जिन्हें शिरडी साईं बाबा के नाम से भी जाना जाता है, एक भारतीय आध्यात्मिक गुरु थे, जिन्हें उनके भक्त श्री दत्तगुरु की अभिव्यक्ति मानते हैं और एक संत और एक फकीर के रूप में पहचाने जाते हैं।

Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स)  Sai Ka Kehna Hai (साई का कहना है)

उनका जन्म 1838 के आसपास होने की संभावना है और उनके हिंदू और मुस्लिम दोनों भक्तों द्वारा उनके जीवनकाल के दौरान और साथ ही बाद में भी उनका सम्मान किया जाता है।

साई नाथ जी का अनमोल और बहुत ही मधुर Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स) इस प्रकार हैं।

[LYRICS] – Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स) | Sai Ka Kehna Hai (साई का कहना है)

साई का कहना है सबका मालिक एक है,
साई का कहना है सबका मालिक एक है,
पायेगा वो उसको जिसकी नियत नेक है,
पायेगा वो उसको जिसकी नियत नेक है।

हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
साई का कहना है सबका मालिक एक है,
साई का कहना है सबका मालिक एक है।

साई राम साई राम, साई राम साई राम,
साई राम साई राम, साई राम,
साई का कहना है किसी भूखे प्यासे को,
तुम भोजन करवा दो वही पूजा है,
तुम भोजन करवा दो वही पूजा है,
ओ साई का कहना है यदि बे सहारों को,
गर तुम सहारा दो वही पूजा,
गर तुम सहारा दो वही पूजा,
ये दुनिया कायम है जब तक भक्ति शेष है,
ये दुनिया कायम है जब तक भक्ति शेष है,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
साई का कहना है सबका मालिक एक है,
साई का कहना है सबका मालिक एक है।

साई राम साई राम, साई राम साई राम,
साई राम साई राम, साई राम
साई राम, साई राम,
साई राम, साई राम,
साई का कहना है ये सब धर्मों वाले,
गर मिलके रहे सारे वही पूजा है,
गर मिलके रहे सारे वही पूजा है,
ओ ओ ओ ओ,
साई का कहना है ना छोटा बड़ा कोई,
तुम सबसे प्यार करो वही पूजा है,
तुम सबसे प्यार करो वही पूजा है,
कुदरत के सब बन्दे है नूर सबमे एक है,
कुदरत के सब बन्दे है नूर सबमे एक है,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
साई का कहना है सबका मालिक एक है.
पायेगा वो उसको जिसकी नियत नेक है.
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
हरी रूप में साई को जानो रे,
साई का कहना तुम सब मानो रे,
साई का कहना है सबका मालिक एक है,
साई का कहना है सबका मालिक एक है।

साई राम साई राम, साई राम साई राम,
साई राम साई राम, साई राम साई राम,
साई राम साई राम, साई राम साई राम,
साई राम साई राम, साई राम साई राम।

[VIDEO] – Sai Bhajan Lyrics (साई भजन लिरिक्स) | Sai Ka Kehna Hai (साई का कहना है)

Sai Ka Kehna Hai PDF Download (साई का कहना है)


onehindudharma.org

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Jagannath Ji Aarti Lyrics (जगन्नाथ जी की आरती)

Leave a Comment

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 👉

X
You cannot copy content of this page