Ganesh Ji Aarti Lyrics (गणेश जी की आरती)


Ganesh Ji Aarti Lyrics (गणेश जी आरती)

हिंदू धर्म में किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले सबसे पहले गणेश जी की पूजा की जाती है। वह शिव और पार्वती के पहले पुत्र हैं, और बुद्धि (जिन्हें रिद्धि भी कहा जाता है) और सिद्धि के पति हैं। ‘गा’ बुद्धि (बुद्धि) का प्रतीक है और ‘ना’ विद्या (ज्ञान) का प्रतीक है। इस प्रकार गणेश को बुद्धि और ज्ञान का स्वामी माना जाता है। भगवान गणेश को चार भुजाओं वाले बड़े पेट वाले, पीले या लाल देवता के रूप में और एक दांत वाले हाथी के सिर, एक चूहे पर सवार के रूप में चित्रित किया गया है। उन्हें अक्सर बैठे हुए दर्शाया जाता है।

गणेश की लोकप्रियता भारत के बाहर भी व्यापक रूप से फैली हुई है। उनके कुछ भक्त गणेश को सर्वोच्च देवता के रूप में पहचानते हैं और उन्हें गणपति कहा जाता है।

Ganesh Chaturthi Vrat Katha (गणेश चतुर्थी व्रत कथा) के बाद Ganesh Ji Aarti (गणेश जी की आरती) करनी चाइये।

ऐसा कहा जाता है कि जहां गणेश अपने भक्तों को हमेशा भाग्य और ज्ञान का आशीर्वाद देते हैं, वहीं वे उन्हें इस दिन समृद्धि भी देते हैं। यह भी कहा जाता है कि इस व्रत और Ganesh Ji Aarti (गणेश जी की आरती) को करने वाली लड़कियों को विवाह का सौभाग्य प्राप्त होता है। इसलिए इस दिन व्रत रखने की परंपरा है।

Benefits of Ganesh Ji Aarti (गणेश जी की आरती के लाभ)

गणेश चतुर्थी व्रत, गणेश चतुर्थी व्रत कथा और Ganesh Ji Aarti (गणेश जी की आरती) करने के निम्नलिखित लाभ हैं:

समृद्धि

हर कोई स्वस्थ और समृद्ध जीवन चाहता है। जब आप भगवान गणेश की पूजा करते हैं, तो आप सफलता प्राप्त करने की दिशा में काम करते हैं। आप पाएंगे कि अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के प्रति आपका दृढ़ संकल्प ऊंचा है।

शुभ भविष्य

भगवान गणेश भक्तों को अच्छे भाग्य और धन के साथ आशीर्वाद देने के लिए भी जाने जाते हैं। यदि आप समर्पित रूप से भगवान गणेश की पूजा करेंगे, तो आप निश्चित रूप से भाग्य प्राप्त करेंगे, और कभी भी खाली हाथ नहीं लौटेंगे। आपके लिए अपने जीवन में प्रचुर मात्रा में धन और शक्ति की दिशा में काम करना आसान हो जाएगा।

बुद्धि

भगवान गणेश का हाथी सिर ज्ञान का प्रतीक है। इसलिए, यदि आप भगवान गणेश की पूजा करते हैं, तो आपको ज्ञान प्राप्त होने की संभावना है।

अपनी सभी बाधाओं को नष्ट करें

भगवान गणेश को विघ्नहर्ता के नाम से जाना जाता है। इसलिए, जब आप पूरे विश्वास के साथ भगवान गणेश की पूजा करते हैं, तो वे आपको सही रास्ते पर ले जाते हैं। भगवान गणेश आपको अपने डर पर विजय पाने और अपने जीवन में सभी बाधाओं को दूर करने का साहस देते हैं।

आप धैर्यवान बनेंगे

यह भगवान गणेश के बड़े कान हैं जो एक धैर्यवान श्रोता का प्रतीक हैं। यदि आप भगवान की पूजा करते हैं और अपनी आंतरिक शक्ति पर ध्यान केंद्रित करते हैं, तो आप समान स्तर का धैर्य विकसित करेंगे।

आप ज्ञानी बन सकेंगे

जब आप भगवान गणेश की पूजा करते हैं तो आप परिवर्तन के मार्ग पर चलने लगते हैं। और दृढ़ निश्चय से आप ज्ञान की सीढ़ियाँ चढ़ेंगे।

आपकी आत्मा शुद्ध हो जाएगी

ऐसा माना जाता है कि जो कोई भी अत्यधिक समर्पण के साथ उनकी पूजा करता है, उसकी आत्मा शुद्ध होती है। आप धीरे-धीरे अपने जीवन से नकारात्मकता को दूर करने लगेंगे, जिससे आपकी आत्मा और भी शुद्ध होगी।

आपका जीवन शांतिपूर्ण रहेगा

जब आप भगवान गणेश की पूजा करते हैं, तो आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जिम्मेदारी का अहसास होने लगता है और आपका जीवन व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों तरह से शांतिपूर्ण हो जाता है।

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Ganesh Chaturthi Vrat Katha In Hindi (गणेश चतुर्थी व्रत कथा)
Ganesh Chaturthi Vrat Katha In Hindi (गणेश चतुर्थी व्रत कथा)

Ganesh Ji Aarti Lyrics (गणेश जी की आरती)

|| गणेश जी की आरती ||

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

एकदन्त दयावन्त चारभुजाधारी,
माथे पर तिलक सोहे मूसे की सवारी,
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

हार चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा,
लड्डुअन का भोग लगे सन्त करे सेवा,
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

अँधे को आँख देत कोढ़िन को काया,
बाँझन को पुत्र देत निर्धन को माया,
‘सूर’ श्याम शरण आए सफल कीजे सेवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

दीनन की लाज राखो, शम्भु सुतवारी,
कामना को पूर्ण करो, जग बलिहारी,
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा,
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।।

Ganesh Ji Aarti Lyrics PDF Download (गणेश जी की आरती)


onehindudharma.org

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Hanuman Aarti (हनुमान आरती) Lyrics

Leave a Comment

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 👉

X
You cannot copy content of this page