Durga Chalisa In Hindi (दुर्गा चालीसा) Lyrics


Durga Chalisa In Hindi (दुर्गा चालीसा) Lyrics

देवी दुर्गा की पूजा की जाती है क्योंकि वह बुरी आत्माओं से लड़ने में मदद करती हैं। यह भक्ति गीत है जो देवी की स्तुति में गाया जाता है। यह दुर्गा मंत्र के रूप में भी दोगुना है जो चालीस छंदों से बना है।

सर्वोच्च चेतना के मार्ग पर चलने के लिए दुर्गा चालीसा के जाप से बड़ा कोई आश्रय नहीं है। इस मंत्र को लंबे समय तक याद रखने में महीनों लग सकते हैं लेकिन उसकी हार्दिक भक्ति के बारे में सावधानी बरतनी चाहिए।

Benefits of Durga Chalisa (दुर्गा चालीसा के लाभ)

दुर्गा चालीसा (Durga Chalisa) का पाठ करने से व्यक्ति को अपने जीवन में किसी भी तरह की नकारात्मकता से छुटकारा मिलता है।

ऐसा माना जाता है कि दुर्गा चालीसा (Durga Chalisa) को पढ़ने से भक्त को भावनात्मक और आध्यात्मिक जागृति मिलती है।

मां दुर्गा का अनुसरण करने वाले बहुत से लोग मानते हैं कि वह सकारात्मकता फैलाने में मदद करती हैं और एक नई रोशनी लाती हैं। दुर्गा चालीसा को पढ़ने से व्यक्ति को अधिक सकारात्मक और शांति महसूस करने में मदद मिल सकती है।

दुर्गा चालीसा (Durga Chalisa) का पाठ करने से परिवार में होने वाले किसी भी आर्थिक नुकसान को रोकने में भी मदद मिलती है। यह आपको किसी भी तरह के नुकसान से बचाने में भी मदद करता है।

ऐसा माना जाता है कि जो लोग प्रतिदिन दुर्गा चालीसा (Durga Chalisa) का पाठ करते हैं, वे अपने जीवन में वासना और जुनून जैसी सभी नकारात्मक भावनाओं को दूर कर सकारात्मक सोच की ओर बढ़ने लगते हैं।

जो लोग ईमानदारी से दुर्गा चालीसा का पाठ करते हैं, उन्हें देवी दुर्गा द्वारा बहुत धन और ज्ञान की वर्षा की जाती है।

कई लोगों का मानना ​​है कि जो लोग प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करते हैं, वे अपनी खोई हुई सामाजिक स्थिति को पुनः प्राप्त करने और शक्तिशाली बनने में सक्षम होते हैं।

सुबह स्नान करने के बाद दुर्गा चालीसा का पाठ करना सबसे अच्छा है। चालीसा पढ़ते समय आप लाल, नारंगी, ग्रे, पीले, हरे या नीले रंग में से किसी भी रंग के कपड़े पहन सकते हैं क्योंकि ये रंग मां दुर्गा के विभिन्न रूपों को समर्पित हैं।

Durga Chalisa (संपूर्ण दुर्गा चालीसा)

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

निरंकार है ज्योति तुम्हारी।
तिहूं लोक फैली उजियारी॥

शशि ललाट मुख महाविशाला।
नेत्र लाल भृकुटि विकराला॥

रूप मातु को अधिक सुहावे।
दरश करत जन अति सुख पावे॥

तुम संसार शक्ति लै कीना।
पालन हेतु अन्न धन दीना॥

अन्नपूर्णा हुई जग पाला।
तुम ही आदि सुन्दरी बाला॥

प्रलयकाल सब नाशन हारी।
तुम गौरी शिवशंकर प्यारी॥

शिव योगी तुम्हरे गुण गावें।
ब्रह्मा विष्णु तुम्हें नित ध्यावें॥

रूप सरस्वती को तुम धारा।
दे सुबुद्धि ऋषि मुनिन उबारा॥

धरयो रूप नरसिंह को अम्बा।
परगट भई फाड़कर खम्बा॥

रक्षा करि प्रह्लाद बचायो।
हिरण्याक्ष को स्वर्ग पठायो॥

लक्ष्मी रूप धरो जग माहीं।
श्री नारायण अंग समाहीं॥

क्षीरसिन्धु में करत विलासा।
दयासिन्धु दीजै मन आसा॥

हिंगलाज में तुम्हीं भवानी।
महिमा अमित न जात बखानी॥

मातंगी अरु धूमावति माता।
भुवनेश्वरी बगला सुख दाता॥

श्री भैरव तारा जग तारिणी।
छिन्न भाल भव दुःख निवारिणी॥

केहरि वाहन सोह भवानी।
लांगुर वीर चलत अगवानी॥

कर में खप्पर खड्ग विराजै।
जाको देख काल डर भाजै॥

सोहै अस्त्र और त्रिशूला।
जाते उठत शत्रु हिय शूला॥

नगरकोट में तुम्हीं विराजत।
तिहुंलोक में डंका बाजत॥

शुंभ निशुंभ दानव तुम मारे।
रक्तबीज शंखन संहारे॥

महिषासुर नृप अति अभिमानी।
जेहि अघ भार मही अकुलानी॥

रूप कराल कालिका धारा।
सेन सहित तुम तिहि संहारा॥

परी गाढ़ संतन पर जब जब।
भई सहाय मातु तुम तब तब॥

अमरपुरी अरु बासव लोका।
तब महिमा सब रहें अशोका॥

ज्वाला में है ज्योति तुम्हारी।
तुम्हें सदा पूजें नर-नारी॥

प्रेम भक्ति से जो यश गावें।
दुःख दारिद्र निकट नहिं आवें॥

ध्यावे तुम्हें जो नर मन लाई।
जन्म-मरण ताकौ छुटि जाई॥

जोगी सुर मुनि कहत पुकारी।
योग न हो बिन शक्ति तुम्हारी॥

शंकर आचारज तप कीनो।
काम अरु क्रोध जीति सब लीनो॥

निशिदिन ध्यान धरो शंकर को।
काहु काल नहिं सुमिरो तुमको॥

शक्ति रूप का मरम न पायो।
शक्ति गई तब मन पछितायो॥

शरणागत हुई कीर्ति बखानी।
जय जय जय जगदम्ब भवानी॥

भई प्रसन्न आदि जगदम्बा।
दई शक्ति नहिं कीन विलम्बा॥

मोको मातु कष्ट अति घेरो।
तुम बिन कौन हरै दुःख मेरो॥

आशा तृष्णा निपट सतावें।
रिपू मुरख मौही डरपावे॥

शत्रु नाश कीजै महारानी।
सुमिरौं इकचित तुम्हें भवानी॥

करो कृपा हे मातु दयाला।
ऋद्धि-सिद्धि दै करहु निहाला।

जब लगि जिऊं दया फल पाऊं ।
तुम्हरो यश मैं सदा सुनाऊं ॥

दुर्गा चालीसा जो कोई गावै।
सब सुख भोग परमपद पावै॥

देवीदास शरण निज जानी।
करहु कृपा जगदम्ब भवानी॥

॥ इति श्री दुर्गा चालीसा सम्पूर्ण ॥

Durga Chalisa In Hindi (दुर्गा चालीसा) Lyrics PDF Download


onehindudharma.org

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Shani Chalisa In Hindi (शनि चालीसा)

Leave a Comment

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 👉

X
You cannot copy content of this page