Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स)


Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स)

दुर्गा हिंदू धर्म में एक प्रमुख देवी हैं। उन्हें एक प्रमुख देवी के रूप में पूजा जाता है और वह भारतीय देवताओं में सबसे लोकप्रिय और व्यापक रूप से पूजनीय हैं। वह सुरक्षा, शक्ति, मातृत्व, विनाश और युद्धों से जुड़ी है। उनकी कथा बुराई पर अच्छाई की शक्ति, शांति, समृद्धि और धर्म के लिए खतरा पैदा करने वाली बुराइयों और राक्षसी ताकतों का मुकाबला करने के इर्द-गिर्द केंद्रित है।

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स) निचे इस लेख में दी गयी हैं। आनंदपूर्वक शांत मन से इसका पाठ करें और इसे जानें।

Mata Rani Bhajan Lyrics (माता रानी भजन लिरिक्स) Mata Rani Ka Darbaar Sajaya Hai Lyrics (माता रानी का दरबार सजाया है लिरिक्स) Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स)

[LYRICS] – Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स)

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

तेरे भक्तजनो पर माता भीड़ पड़ी है भारी,
भीड़ पड़ी है भारी…
दानव दल पर टूट पड़ो माँ करके सिंह सवारी,
करके सिंह सवारी…

तेरे भक्तजनो पर माता भीड़ पड़ी है भारी,
भीड़ पड़ी है भारी…
दानव दल पर टूट पड़ो माँ करके सिंह सवारी,
करके सिंह सवारी…

सौ-सौ सिहों से भी बलशाली,
हे दस भुजाओं वाली,
दुखियों के दुखड़े निवारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

माँ-बेटे का है इस जग मे बड़ा ही निर्मल नाता
बड़ा ही निर्मल नाता
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता
माता सुनी कुमाता

माँ-बेटे का है इस जग मे बड़ा ही निर्मल नाता,
बड़ा ही निर्मल नाता…
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता,
माता सुनी कुमाता…

सब पे करूणा दर्शाने वाली,
अमृत बरसाने वाली,
दुखियों के दुखडे निवारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

नहीं मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना,
ना चांदी ना सोना…
हम तो मांगें तेरे मन में छोटा सा कोना,
इक छोटा सा कोना…

नहीं मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना,
ना चांदी ना सोना…
हम तो मांगें तेरे मन में छोटा सा कोना,
इक छोटा सा कोना…

सबकी बिगड़ी बनाने वाली,
लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को सवांरती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।।

[VIDEO] – Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स)

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics PDF Download (अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स PDF Download)


onehindudharma.org

इस महत्वपूर्ण लेख को भी पढ़ें - Lingashtakam lyrics (लिंगाष्टकम लिरिक्स)

Leave a Comment

आज का पंचांग जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 👉

X
You cannot copy content of this page